Kaldharma of AMRESH MUNI

Kaldharma of AMRESH MUNI

Kaldharma of AMRESH MUNI

श्रमण संघ ने आज दिव्य रत्न को खो दिया है

गुरु मिश्री रूप सुकन परिवार के अनमोल रत्न
श्रमण संघ के उज्ज्वल नक्षत्र
युवा प्रज्ञ कवि प्रवक्ता डॉ
*श्री अमरेशमुनि जी म सा* निराला ने *संथारा पूर्वक*
अपना आयुष कर्म को पूरा करके इस जीवन से प्रस्थान कर *देवलोक* के दिव्य द्वार पर पहुँच गए है ।
आपके देवलोक से श्रमण संघ व साधु संघ में अत्यंय हानि हुई है ।
किसी को भी अंतिम पार्थिव देह के दर्शन करने होतो शीघ्र जोधपुर पहुँचे ।
कल *3:30* बजे महावीर काम्प्लेक्स भेरू बाग के सामने से *अंतिम यात्रा* प्रारम्भ होगी ।

Related Articles