Latest News Read More...

Latest Articles Read More...

  • Mahavir Swami Quiz
    Mahavir Swami Quiz

    1 परमात्मा महावीर ने किस भव में समयक्त्व प्राप्त किया था नयसार के भव में 2 समकित प्राप्ति के पश्चात् परमात्मा महावीर के कितने भव हुए 27 3 परमात्मा महावीर ने किस नगरी में समयक्त्व प्राप्त किया था अहिच्छत्रा नगरी 4 प्रथम भव में प्रभु महावीर किस नगर के निवासी…

    Read More...
  • 20 sthanak padhaaradhana se bane arihanth | बीस स्थानक पदाराधना से बने अरिहंत
    20 sthanak padhaaradhana se bane arihanth | बीस स्थानक पदाराधना से बने अरिहंत

    अरिहंत पद देवपाल राजा सिद्ध पद हस्तिपाल राजा प्रवचन पद जिनदत्त राजा आचार्य पद पुरुषोत्तम राजा स्थविर पद पद्मोत्तर राजा उपाध्याय पद वीरभद्र राजा साधु पद महेन्द्रपाल राजा ज्ञान पद जयंत राजा दर्शन पद हरिविक्रम राजा विनय पद धनकुमार राजा चारित्र पद अरुणदेव राजा ब्रह्मचर्य पद चंद्रवर्म राजा क्रिया पद…

    Read More...
  • Sutro ke apaar naam | सूत्रों के अपर नाम
    Sutro ke apaar naam | सूत्रों के अपर नाम

    नवकार मंत्र पंच मंगल महाश्रुतस्कंध खमासमणा सूत्र पंचांग प्राणिपात सूत्र इच्छकार सूत्र सुगुरू सुखशाता पृच्छा अब्भुट्ठिओ सूत्र गुरु क्षामणा सूत्र इरियावही सूत्र लघु प्रतिक्रमण प्राचश्चित तस्स उत्तरी सूत्र हेतु सूत्र अन्नत्थ सूत्र आगार सूत्र लोगस्स सूत्र नामस्तव / चतुर्विंशति स्तव करेमि भंते सूत्र प्रतिज्ञा सूत्र नमुत्थुणं सूत्र शक्रस्तव,प्राणिपात सूत्र पुखरवरदी…

    Read More...
  • Pachchakkhaan karane se kya laabh milata hai? पच्चक्खाण करने से क्या लाभ मिलता है?

    नवकारशी का पच्चक्खाण करने से 100 वर्ष का नारकी का आयुष्य क्षय होता हैं पोरिशी का पच्चक्खाण करने से 1,000 वर्ष का नारकी का आयुष्य क्षय होता हैं साडपोरिशी का पच्चक्खाण करने से 10,000 वर्ष का नारकी का आयुष्य क्षय होता हैं परिमुड्ढ का पच्चक्खाण करने से 1,00,000 वर्ष का…

    Read More...
  • 24 Tirthankar’s Diksha Guru
    24 Tirthankar’s Diksha Guru

    जिस भव में अरिंत परमात्मा ने तीर्थंकर नाम कर्म का उपार्जन किया उस भव के दिक्षा गुरु का नाम है 1 प्रभु आदिनाथ तीर्थंकर वज्रसेन 2 प्रभु अजितनाथ आचार्य अरिदमन 3 प्रभु  संभवनाथ आचार्य संभ्रात 4 प्रभु अभिनंदन आचार्य विमलवाहन 5 प्रभु सुमतिनाथ सीमंधर 6 प्रभु  पद्मप्रभस्वामी आचार्य पिहिताश्रव 7…

    Read More...
  • Bhaavi 24 Thirthankar abhi kahan hai ? भावी चोवीसी अभी कहाँ है ?

    1 श्रेनिक राजा पहली नरक में है 2 सुपार्श्व श्रावक दूसरे देवलोक में है 3 उदयन श्रावक तीसरे देवलोक में है 4 पोट्टिल श्रावक चौथे देवलोक में है 5 दृढ़ायु श्रावक चौथे देवलोक में है 6 कार्तिक सेठ पहले देवलोक में है 7 शंख श्रावक बारहवें देवलोक में है 8…

    Read More...
  • Jain Quiz – Part 2 ( उत्तर ‘म’ की वर्णमाला से प्रारम्भ होंगे )

    1 किस महासती ने धर्मपत्नी का सच्चा धर्म निभाया? मदन रेखा /  मयणा सुंदरी 2 प्रथम गुणस्थानक? मिथ्यात्व 3 ज्ञान का एक भेद? मति-ज्ञान / मनःपर्यव ज्ञान 4 पालने में अपने पुत्र को सुसंस्कारो से पल्लवित करने वाली माँ? मदालसा 5 वाराणसी में गंगा नदी स्तिथ 84 घाट में से…

    Read More...
  • Jain Quiz – Part 1

    1 ऐसा हार जो साधु-  साध्वी भगवंत को पसंद है ?  विहार 2 ऐसा मन जो विनय सिखाये ? नमन 3 ऐसा सार जिसमें व्यक्ति हरदम फंसा रहता है ?  संसार 4 ऐसा बिल जो पहुँचाये मोक्ष मंजिल ? आयंबिल 5 ऐसी राय जो दान देने में बाधक है ? अंतराय…

    Read More...
  • Upvas ka fal kaise milta hai? How to get punya of upvas without doing it.

    45 नवकारसी करने से 1 उपवास का लाभ मिलता है 24 पोरसी करने से 1 उपवास का लाभ मिलता है 20 साड्ढ़ पोरसी करने से 1 उपवास का लाभ मिलता है 8 परिमड्ढ़ करने से 1 उपवास का लाभ मिलता है 8 बियासणा करने से 1 उपवास का लाभ मिलता…

    Read More...
  • Shree Manibhadra Veer Mantra

    १. ऊँ असिआउसा नमः । श्री माणिभद्र ! दिशतु मम सदा सर्वकार्येषु सिद्धिं ।। विधि: इस मंत्र की साधना रविवार, मंगलवार या गुरुवार हो , मतलब सूद पक्ष में पहला रविवार, मंगलवार, या गुरुवार हो तब या सूद पक्ष की पंचम, अष्ट, या चौदश के दिन आरंभ करना. ऐसे 21…

    Read More...

Latest Thoughts Read More...

Latest Videos View More...